प्रीमियम श्रेणी को चुनौती देने के लिए सेट वीवो, ओप्पो, रियलमी

प्रीमियम श्रेणी को चुनौती

प्रीमियम श्रेणी को चुनौती वीवो, ओप्पो और रियलिटी जैसी स्मार्टफोन कंपनियां साल 2020 में देश के प्रीमियम सेगमेंट में उतरने के लिए तैयार हैं। तीनों चीनी कंपनियां अब तक के सस्ते स्मार्टफोन बाजार में बेहतरीन फीचर्स के साथ स्मार्टफोन पेश कर रही थीं।

अब बाजार हिस्सेदारी के मामले में अच्छी प्रगति के बाद, वे वनप्लस, ऐप्पल और सैमसंग के प्रभुत्व वाले प्रीमियम सेगमेंट पर नज़र गड़ाए हुए हैं।

स्मार्टफोन कंपनियों की इस प्रतियोगिता ने प्रीमियम श्रेणी के विकास और वृद्धि का संकेत दिया है।

काउंटरपॉइंट टेक्नोलॉजी मार्केट रिसर्च के अनुसार, वर्ष 2020 में प्रीमियम स्मार्टफोन बाजार (30,000 रुपये या अधिक की कीमत) की वृद्धि 48 प्रतिशत होने का अनुमान है। एक अन्य शोध फर्म, टेक आर्क, प्रीमियम स्मार्टफोन खंड में 30 प्रतिशत वृद्धि की उम्मीद करता है।

वर्ष 2020 की तैयारी के लिए यामाहा क्या है? पढ़िए रविंदर सिंह से खास बातचीत

काउंटर प्वाइंट रिसर्च में एडी तरुण पाठक ने ईटी को बताया, “भारत में प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट अभी भी शुरुआती चरण में है। यह सेगमेंट स्मार्टफोन की कुल बिक्री में केवल छह प्रतिशत का योगदान देता है। यूएस और चीन की तुलना में यह सेगमेंट अभी भी बहुत छोटा है। प्रीमियम सेगमेंट में अमेरिका में 50 फीसदी और चीन में 22 फीसदी हिस्सेदारी है। ‘

इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स का कहना है कि OPO, Vivo और Realme के प्रीमियम सेगमेंट में उतरने से ग्राहकों को चांदी मिलेगी। जब स्मार्टफोन ग्राहकों के पास प्रीमियम सेगमेंट में अधिक विकल्प होंगे, तो प्रीमियम स्मार्टफोन बाजार पहले की तुलना में बहुत तेजी से बढ़ेगा।

अनुमानित, प्रीमियम डिवाइस शिपमेंट में वर्ष 2019 में 33 प्रतिशत की वृद्धि हुई। यदि आप समग्र स्मार्टफोन बिक्री के बारे में बात करते हैं, तो इसकी वृद्धि इकाई संख्या में रहने का अनुमान है।

रियलिटी इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी माधव सेठ ने हाल ही में ईटी को बताया कि वर्ष 2020 में स्मार्टफोन की बिक्री में पांच प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है, क्योंकि लोग अब नए मॉडलों में नवाचार की कमी और उच्च औसत कीमतों के कारण पुराने उपकरणों का उपयोग कर रहे हैं। लंबे समय से उपयोग कर रहे हैं।

टेक आर्क के मुताबिक, 2019 में प्रीमियम स्मार्टफोन बाजार मूल्य के हिसाब से 2020 तक 34-36 फीसदी का योगदान दे सकते हैं।

वनप्लस, सैमसंग और एप्पल के पास काउंटरपॉइंट रिसर्च के 2019 के लिए तीसरी तिमाही के आंकड़ों के अनुसार प्रीमियम स्मार्टफोन बाजार में 35, 23 और 22 प्रतिशत के करीब हिस्सेदारी है। वनप्लस की तरह, चीन के ओप्पो, वीवो और रियलिटी भी प्रीमियम श्रेणी में प्रवेश कर रहे हैं।

वास्तविकता वर्तमान में ऑनलाइन बिक्री पर अधिक केंद्रित है, हालांकि, कंपनी की योजना वर्ष 2020 में ऑफलाइन सेगमेंट में भी विस्तार करने की है। Realme कुछ मजबूत प्रीमियम लॉन्च के साथ इस सेगमेंट में नए साल में अपनी उपस्थिति बढ़ाने की योजना बना रहा है।

भारत में मिड-सेगमेंट या 25,000-30,000 रुपये का सेगमेंट प्रीमियम स्मार्टफोन श्रेणी की तुलना में तेजी से बढ़ रहा है। भारतीय ग्राहक इसे किफायती बनाना पसंद करते हैं।

काउंटर प्वाइंट के पाठक ने कहा कि हैंडसेट कंपनियां ईएमआई और कैशबैक जैसे ऑफर के साथ स्मार्टफोन को अधिक किफायती बनाने की कोशिश कर रही हैं। भारत कीमतों के मामले में एक बहुत ही संवेदनशील बाजार है। यहां प्रीमियम स्मार्टफोन बाजार की वृद्धि इस बात पर निर्भर करेगी कि मूल उपकरण निर्माता डिवाइस की कीमत को कैसे नियंत्रित कर सकते हैं।

नया साल मुबारक हो 2020: 10 प्रेरणादायक नए साल आप साझा कर सकते हैं

Open chat